Delegation meets chief minister for construction of AIIMS in Saharsa … – Hindustan हिंदी

कोसी प्रमंडलीय मुख्यालय सहरसा में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की स्थापना एवं कोसी पर डेगराही पुल निर्माण की मांग को लेकर एक शिष्टमंडल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिला। शिष्टमंडल में भाजपा नेता एवं जिला परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष रितेश रंजन, भाजपा नेता एम्स बनाओ संघर्ष समिति के संरक्षक प्रवीण आनंद, संयोजक बिनोद झा, सिमरी बख्तियारपुर नगर पंचायत के अध्यक्ष प्रतिनिधि मो. जाहिर आलम आदि ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से वार्ता की गई।

भाजपा नेता पूर्व उपाध्यक्ष रितेश रंजन ने कहा कि उत्तर बिहार में कोसी का अत्यंत पिछड़ा इलाका होने के करण एम्स की आवश्यकता है। एम्स निर्माण के सारे मानक को सहरसा पूरा करता है। दूसरी तरफ लगातार 17 दिनों तक चला कोसी नदी के डेगराही के पास पुल निर्माण के अनशन से अवगत कराते हुए कहा कि डेगराही पुल निर्माण से कोसी तटबंध के अंदर गुजर-बसर कर रहे लाखों लोगों की आबादी के लिए जीवन दान एवं आजादी होगी। भाजपा नेता प्रवीण ने बताया कि सहरसा में एम्स निर्माण के लिए 217. 74 एकड़ जमीन की रिपोर्ट जिला पदाधिकारी ने सौंप दी है। एम्स निर्माण के संयोजक विनोद कुमार झा एवं नगर पंचायत अध्यक्षा प्रतिनिधि मो. जाहिर आलम ने कहा कि 400 से 500 गांव कोसी बांध के भीतर हैं, जो बुनियादी सुविधा से वंचित हैं। कोसी नदी के डेगराही घाट पर पुल निर्माण एवं सहरसा में एम्स निर्माण से कोसीवासियों के लिए बरदान साबित हो सकती है। मुख्यमंत्री ने एम्स निर्माण के संबंध में कहा कि यह मामला केंद्र से जुड़ा है। मेरा पूरा प्रयास रहेगा कि आपके क्षेत्र में इसका लाभ कोसी वासियों को मिले। डेगराही पुल निर्माण पर उन्होंने कहा कि कई पुल कोसी पर बनाए जाने की योजना है, अधिक पुल का निर्माण प्राकृतिक दृष्टिकोण से अच्छा नहीं है। इस मामले को गंभीरता पूर्वक विचार किया जाएगा।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/saharsa/story-delegation-meets-chief-minister-for-construction-of-aiims-in-saharsa-1619521.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.