bihar crime don murder poster chatth pooja bhojpur firing retired … – आज तक

मंदिर में किसी कुख्यात अपराधी के पोस्टर लगे, ये पृथ्वीनाथ शर्मा को मंजूर नहीं था, इसलिए उन्होंने उसका पोस्टर फाड़ दिया. हालांकि इसकी कीमत उन्हें अपनी जान गंवाकर चुकानी पड़ी.

दरअसल बिहार में छठ के अवसर पर कुख्यात अपराधी रंजीत चौधरी ने बधाई का अपना पोस्टर मंदिर की दीवार पर लगाया था. पृथ्वीनाथ शर्मा ने इस बात का विरोध करते हुए वो पोस्टर फाड़ दिया. इसका बदला लेने के लिए अपराधियों ने 9 गोली मार कर पृथ्वी नाथ शर्मा की हत्या कर दी. पथ्वीनाथ शर्मा फौज से रिटायर्ड थे. ये किसी फिल्मी कहानी नहीं बल्कि भोजपुर जिले के कानून व्यवस्था की हकीकत है.

खुद को डॉन कहने वाला यह अपराधी कई संगीन अपराधों में सलिप्त रहा है और वो अपराधी छठ के अवसर पर पोस्टर लगा कर लोगों में दहशत पैदा करना चाहता था. पृथ्वी नाथ शर्मा ने इसी वजह से पोस्टर को फाड़ दिया था. बताया जा रहा है कि लोदीपुर गांव निवासी और रिटायर्ड फौजी पृथ्वी नाथ शर्मा और गांव के ही कुछ नामजद लोगों के बीच छठ पर्व में भोजपुर का कुख्यात डॉन रंजीत चौधरी का पोस्टर लगाने का विवाद खड़ा हुआ था.

बताया जा रहा है कि मृतक पृथ्वी नाथ शर्मा सूर्य मंदिर पर लगे रंजीत चौधरी के पोस्टर को हटाना चाहते थे इसलिए उन्होंने उसे फाड़ दिया गया था. जिस पर कुछ लोगों ने पृथ्वी को जान से मारने की धमकी भी दी थी. सोमवार की रात पृथ्वी नाथ शर्मा अपनी सीमेंट की दुकान को बंद कर अपने बेटे के साथ घर लौट रहे थे. तभी पहले से घात लगाए बैठे करीब 4 हथियारबंद अपराधियों ने तबाड़तोड़ 9 गोलियां चलाकर उनकी हत्या कर दी और हथियार लहराते हुए फरार हो गए.

घटना की जानकारी जैसे ही स्थानीय थाना पुलिस को मिली वह तत्काल मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए आरा सदर अस्पताल भेज दिया. वही इस मामले में चांदी थानाध्यक्ष से इस बाबत जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि नामजदों द्वारा एक व्यक्ति को गोली मारकर हत्या कर दी गई है. प्रथम दृष्टया पोस्टर फाड़ने का विवाद सामने आ रहा है लेकिन पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. वहीं नामजदों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लागातार छापेमारी कर रही है.

Source Article from http://aajtak.intoday.in/crime/story/bihar-crime-don-murder-poster-chatth-pooja-bhojpur-firing-retired-army-1-961587.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.