12 सूत्री मांगों को लेकर डीआरएम के समक्ष दिया धरना – Hindustan हिंदी

समस्तीपुर रेल विस्तार विकास मंच एवं जिला विकास संघर्ष मोर्चा के संयुक्त तत्तावधान में सोमवार को डीआरएम कार्यालय पर एक दिवसीय धरना दिया गया। इस दौरान आक्रोश पूर्ण सभा भी आयोजित की गयी। इसकी अध्यक्षता डॉ. शंकर प्रसाद यादव ने की। संचालन सुरेंद्र सिंह ने किया।

वक्ताओं ने कहा कि आज विकास पर अफसरशाही हाबी हो गया है। समस्तीपुर की धरती ऐतिहासिक एवं गौरवांवित रही है। जो धीरे-धीरे धूमिल होती जा रही है। समस्तीपुर में रेल मंडल कार्यालय है, लेकिन यहां के स्टेशन पर आज भी यात्री सुविधाओं का घोर अभाव है। यात्रियों की सुरक्षा के बदले आरपीएफ व जीआरपी केवल वसूली अभियान चलाते हैं। यात्रियों से जुड़ी कई अहम मांग वर्षों से लंबित है। बार-बार आंदोलन के बावजूद रेल प्रशासन कुंभकर्णी निद्रा में लेटी है।

प्रमुख मांगों में सप्तक्रांति को समस्तीपुर से चलाने, रेल कारखाना को आवंटित राशि से माल डिब्बों के पीओएच का कार्य शुरू करवाने, नये प्लेटफार्म के साथ नये वाशिंगपीट का निर्माण करने, कुली एवं रिक्शा चालकों के लिये विश्रामालय बनवाने, भोला टॉकिज गुमती पर आरओबी निर्माण कराने सहित अन्य मांग शामिल है। मौके पर जिला परिषद सदस्य भरत राय, दिनेश कुमार शर्मा, डोमन राय, शत्रुघ्न प्रसाद, रघुनाथ राय, राम सागर पासवान, शाहीद हुसैन, सुनील कुमार आदि ने संबोधित किया।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/samastipur/story-12-point-demands-to-be-given-to-drm-1588033.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.