सीतामढ़ी के कलाकार राजन को रामेश्वर सिंह कश्यप पुरस्कार – Hindustan हिंदी

जिले के कलाकार राजन कुमार सिंह को रामेश्वर सिंह कश्यप युवा पुरस्कार मिलेगा। बिहार कला दिवस के अवसर पर 18 अक्टूबर को अधिवेशन भवन, पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उन्हें प्रतीक चिह्न व प्रशस्ति पत्र के साथ 35 हजार रुपये देकर सम्मानित करेंगे। कला जगत में प्रदर्श कला लेखन के लिए उनका चयन इस पुरस्कार के लिए किया गया है। इस बार बिहार कला पुरस्कार के लिए सभी श्रेणियों से दो दर्जन कलाकारों को चयनित किया गया है।

बिहार का नाम देश -दुनिया में रोशन करनेवाली लोकगायिका पद्मश्री शारदा सिन्हा के साथ कई दिग्गज कलाकार भी इनमें शामिल हैं। राजन मूलत: सीतामढ़ी के गम्हरिया गांव के रहनेवाले हैं। बचपन से नृत्य में रुचि थी। पटना में अजित गांगुली के सम्पर्क में आए और रंगमंच में अभिनय की शुरुआत हुई। उसके बाद विभिन्न निर्देशकों के साथ देश भर में मंचित दर्जनों नाटकों में अभिनय किया। उन्होंने अब तक ‘चौथी दीवार, ‘खुद को राजा बुझे, ‘हिटलर जिंदा हैजैसे मौलिक नाटक लिखे हैं। मारियो पूजो कृत गॉड फादर, टैगोर कृत पोस्टमास्टर, प्रेमचंद कृत लैला, बड़े घर की बेटी और मंटो की कुछ कहानियों का नाट्य- रूपान्तरण कर चुके हैं। अभिनय के अलावा निर्देशन व प्रकाश परिकल्पना में उनकी विशेष रुचि है।

उन्होंने बताया कि सीतामढ़ी में अपनी सांस्कृतिक संस्थान ‘जन विकल्प’ के माध्यम से रंगमंच की शुरुआत की जाएगी। ‘सीतामढ़ी रंग महोत्सव’ की योजना है, जिसमें देश के विभिन्न राज्यों का नाटक दर्शकों को देखने को मिलेगा।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/sitamarhi/story-rajeshan-rameshwar-singh-kashyap-award-for-sitamarhi-artist-1592033.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.