संबंधन के लिए आधारभूत संरचना व भवन जरूरी

जागरण संवाददाता, बोधगया (गया): मगध विश्वविद्यालय एकेडमिक काउंसिल की बैठक बुधवार को कुलपति प्रो. एम. इश्तेयाक की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि वैसे शिक्षण संस्थानों को स्थायी संबंधन नहीं दिया जाएगा जिसके पास निजी भवन व आधारभूत संरचना नहीं है। साथ ही नए कालेजों के संबंधन पर काउंसिल ने तल्ख तेवर अपनाते हुए तत्काल इस पर रोक लगाने का निर्णय लिया है। लेकिन छात्रहित में यह भी निर्णय लिया गया कि संबद्ध कालेजों में चल रहे परंपरागत विषयों का संबंधन अद्यतन नहीं होने की स्थिति में सत्र 2013-14 के परीक्षा प्रपत्र इस शर्त के साथ स्वीकार किए जाएंगे कि सत्र 2014-15 से राज्य सरकार द्वारा संबंधन प्राप्त नहीं होने की स्थिति में छात्रों का नामांकन अवैध होगा। उक्त जानकारी विवि के पीआरओ डा. एमएस इस्लाम ने दी।

उन्होंने कहा कि बीएड कालेज के संबंधन मामले में न्यायालय द्वारा दिए गए निदेश के आलोक में एनसीटीई से मान्यता रहने तक संबंधन देने का निर्णय लिया गया। लेकिन ऐसे कालेजों के गुणवत्ता की जांच समय-समय पर करने की जाएगी। साथ ही वैसे शिक्षण संस्थान जिनके संबंधन को राज्य सरकार ने अस्वीकृत कर दिया है। उनके यहां वोकेशनल कोर्स में नामांकन पर रोक लगा दिया गया है। पुराने संबद्ध कालेजों का संबंधन तीन सत्रों के लिए विस्तारित कर दिया गया। जिनका मामला लंबित था। बैठक में प्रतिकुलपति डा. कृतेश्वर प्रसाद, कुलसचिव डा. डीके यादव, सभी संकायाध्यक्ष, सीसीडीसी डा. संजय तिवारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsstate Desk)

Source Article from http://www.jagran.com/bihar/gaya-11278123.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.