शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार: डीईओ 10 हजार रुपए का घूस लेते गिरफ्तार – Hindustan हिंदी

सुपौल के शिक्षा विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की पोल उस समय खुल गई जब डीईओ मो. हारूण रिश्वत लेते स्वयं रंगे हाथों निगरानी के हत्थे चढ़ गये।



बुधवार को डीईओ मो. हारूण अपने आवास पर दोपहर ढाई बजे मदरसा के एक शिक्षक से 10 हजार रुपये घूस ले रहे थे तभी निगरानी ने उन्हें दबोच लिया। गिरफ्तारी के बाद डीएम बैद्यनाथ यादव को सूचना देकर निगरानी की टीम उन्हें पटना लेकर चली गई। 



13 सदस्यीय निगरानी टीम का नेतृत्व डीएसपी अरूण कुमार और अक्षय मिश्र कर रहे थे। डीईओ मो. हारूण ने 30 अप्रैल को पिपरा के दीनापट्टी मदरसा का निरीक्षण किया था। मदरसा में कुछ शिक्षक अनुपस्थित मिले थे। इसके बाद डीईओ ने शिक्षकों की अनुपस्थिति और बरती जा रही अनियमितता को लेकर कार्रवाई नहीं करने के लिए 40 हजार रुपये रिश्वत मांगे थे।


मदरसा के एक शिक्षक मो. रफीउद्दीन ने तब इसकी शिकायत निगरानी विभाग से की थी। शिकायत के आलोक में निगरानी ने पहले मामले की जांच की फिर अपना जाल बिछाया। 

बुधवार को डीईओ त्रिवेणीगंज के एक स्कूल से जांच करने के बाद दोपहर अपने आवास आयेे। आवास पर ही शिकायतकर्ता रिश्वत की राशि लेकर पहुंचे थे। डीईओ ने जैसे ही रिश्वत के रुपये लिये निगरानी ने उन्हें पकड़ लिया। पूरी कार्रवाई इतनी जल्दी हुई कि किसी को कुछ समझ नहीं आया। इसके बाद निगरानी की टीम उन्हें पटना लेकर चली गयी। 

 

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/bhagalpur/story-supaul-deo-arrested-with-bribe-by-vigilance-team-1103560.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.