राबड़ी ने 2004 में किया था कटैया पावर हाउस का शिलान्यास, आज भी कायम है अंधेरा – News18 इंडिया

साल 2004 में बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने सुपौल जिले के कटैया पावर हाउस के समीप 700 किलोवाट की क्षमता वाली पावर हाउस का शिलान्यास किया था. 13 साल बीत जाने के बाद भी क्षेत्र के लोगों को अबतक बिजली नसीब नहीं हुई है. इस दौरान यहां रखे हुए सामानों में जंग लग गए.


यहां मौजूद मिनी पावर हाउस में लंबे-लंबे घास उग गए हैं. स्थानीय लोगों के मुताबिक इन 13 वर्षों में तीन प्रोजेक्ट इंजीनियर आ चुके हैं और कार्ययोजना धरातल पर फिसड्डी साबित हो रही है.


करीब 7 करोड़ की लागत से बनकर शुरू होने वाली इस परियोजना में अबतक 5.5 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं. वहीं अब तक इस परियोजना में 3 प्रोजेक्ट इंजीनियर बदल चुके हैं. हां, इस परियोजना में सबसे बड़ी बाधा एनएच में पड़ने वाली जमीन है, जिसमें बिहार सरकार की ओर से नोटिफिकेशन नहीं होने की वजह से जमीन का उपलब्ध नहीं होना बताया जा रहा है.


वहीं इस संबंध में बिहार के उर्जा मंत्री विजेंद्र यादव का मानना है कि कोई भी प्रोजेक्ट 20 से 25 साल बाद पुराना हो जाता है और उसका कोई अस्तित्व नहीं रहता. यहां 7 करोड़ की लागत से बनने वाले मिनी पावर हाउस को भी 13 साल बीत गए हैं. साथ ही साढ़े 5 करोड़ की राशि अब तक खर्च किए जा चुके हैं.निर्माण कार्य में जुटी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर का मानना है कि जल्द ही कार्य पूरा होगा और इलाके के लोगों को बिजली मिलेगी.

Source Article from http://hindi.news18.com/bihar/supaul-news-no-electricity-supply-since-last-13-years-in-kataiya-supaul-985670.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.