मुंशी हत्याकांड: पुलिस ने 35 घंटे बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा – Live हिन्दुस्तान


चकाई(जमुई) में नक्सलियों की ओर से हत्या किए जाने के के करीब पैंतीस घंटे बाद सड़क निर्माण कंपनी के मृतक मुंशी का शव मंगलवार को पोस्टमार्टम के लिए जमुई सदर अस्पताल भेजा जा सका। बताते चलें कि रविवार की रात हरनी -केंचुआ ग्रामीण पथ निर्माण में लगी कंपनी राजकुमार इंजीनियरींग में कार्यरत मुंशी संजय पाण्डेय की नक्सलियों ने हरनी गांव के पास रहे कार्यस्थल पर बुलाकर बिना आदेश का निर्माण कार्य शुरू किये जाने का आरोप लगाते हुए गला रेतकर हत्या कर दी थी।

घटना की सूचना चकाई पुलिस को सोमवार की सुबह ही मिल गई थी। नक्सल प्रभावित इलाका रहने के कारण चकाई पुलिस ने पहले तो निर्माण कंपनी के लोगों से ही मौके से शव को उठा लाने के लिए कहा। जब वे लोग वहां से शव उठाने को तैयार नहीं हुए तब चकाई पुलिस सीआरपीएफ को साथ लेकर घटना के करीब बीस घंटे बाद घटनास्थल पहुंची और घटनास्थल का मुआयना करने के बाद मौके से शव को जब्त कर थाने लाई।

मंगलवार की सुबह मृतक के परिजनों के पहुंचने के बाद ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। शव को देखते ही परिजनों की आंखें छलक आई। थानाध्यक्ष कपिलदेव प्रसाद ने बताया कि कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा जायेगा।

Source Article from http://www.livehindustan.com/news/bhagalpur/article1-murder-of-road-construction-staff-by-naxal-in-jamui-sent-body-for-postmortem-686379.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.