माओवादियों ने चिपकाया पोस्टर, कहा- पूंजीपतियों के लिए जान नहीं दें जवान

माओवादियों ने चिपकाया पोस्टर, कहा- पूंजीपतियों के लिए जान नहीं दें जवानमाओवादियों ने चिपकाया पोस्टर, कहा- पूंजीपतियों के लिए जान नहीं दें जवान

गया [जेएनएन]। गया जिले के बाराचट्टी थाना क्षेत्र के जयगीर गांव के रास्ते में बने पुल पर प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा-माओवादी ने पोस्टर चिपकाकर भारत सरकार के गृहमंत्री राजनाथ सिंह से जवाब मांगे हैं। पोस्टर में छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए हमले में 25 सीआरपीएफ जवानों की हत्या को माओवादियों की शहादत के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि करार दिया है।

पोस्टर में राज्य पुलिस व अर्धसैनिक बलों का आह्वान किया गया है कि वे साम्राज्यवाद, पूंजीपतियों और सामंतवादियों की सेवा में अपनी जान नहीं गंवाएं। बाराचट्टी पुलिस अवर निरीक्षक विपिन कुमार पोस्टर को उखाड़ कर थाने ले आए हैं। 

पोस्टर में कहा गया है कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मलकानगिरी में 30, लातेहार में 7, नवादा में 4 और पलामू में 3 साथियों की हत्या करवाई थी। सुकमा हमला उनकी शहादत के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है। केंद्र व राज्य सरकार ऑपरेशन ग्रीन हंट चलाकर आदिवासी, दलित, महादलित, पिछड़ी तथा अन्य मेहनतकश जनता पर दमनात्मक कार्रवाई कर रही है।

यह भी पढ़ें: वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे: बिहार में भी हुई है चौथे खंभे की आवाज को दबाने की कोशिश

गृहमंत्री राजनाथ सिंह जवाब दें कि मलकानगिरी, लातेहार, नवादा, पलामू में जिन आदिवासी, दलित या पिछड़ावर्ग के माओ साथियों की सीआरपीएफ से हत्या करवाई थी उनका दोष क्या था? 

यह भी पढें: एक आइडिया ने बदल दी जिंदगी, पहले खुद थे बेरोजगार, अब लोगों को दे रहे रोजगार

Source Article from http://www.jagran.com/bihar/gaya-15960480.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.