मत्स्यगंधा झील के तट से चंदन के पेड़ को काट ले गए चोर – Hindustan हिंदी

मत्स्यगंधा झील के दक्षणी तट पर लगे चन्दन के पेड़ को शनिवार की रात चोरों ने काटकर चोरी कर ली। रात में हाई मास्ट लैम्पों की रोशनी से जगमग करते इस क्षेत्र से चन्दन के लगभग 20 साल पुराने और पुलिस चौकी नंबर दो से मात्र 50 मीटर की दूरी पर स्थित पेड़ को काट कर चुरा ले जाना किसी शातीर का ही काम हो सकता है।

चोरों ने दो फीट मोटे व लगभग 15 फिट लम्बे वृक्ष के तना को धारदार आरी से काटा है। आरी से काटने में कम से कम एक घंटे का समय लगा होगा। इस बीच किसी की नजर घटना को अंजाम देने वालों पर नहीं पड़ी। चन्दन वृक्ष की चोरी जाने की खबर रविवार की अहले सुबह लोगों को हुई। लोगों का मनना है कि बिना स्थानीय मिलीभगत के इतनी बड़ी घटना को अंजाम नहीं दिया जा सकता। मत्स्यगंधा झील में पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बने नौकायन को और आकर्षक बनाने के लिए छह नाव कोलकाता से मंगाई गईं हैं। इन्हें शनिवार की रात ट्रक से अनलोड करने में डेढ़ बजे गए थे। पुलिस चौकी में तैनात 3 बीएचजी के जवानों में से एक फुलेंद्र यादव ने पूछने पर कहा कि नाव के ट्रक से अनलोड होने के बाद तीनों जवान झील की परिक्रमा पथ पर गश्त लगाने पश्चिम की दिशा में निकले। सुबह 4 बजे जब वे उत्तरी और पूर्वी तट होते पुन: दक्षणी किनारे होते चौकी की ओर जाने लगे तो उस क्रम में उनलोगों की नजर चोरी गए चन्दन वृक्ष की कटी डालियों पर पड़ी। जवान ने बताया कि मोबाइल नहीं होने के कारण तत्काल कहीं सूचना नहीं दे पाए।

शक्ति स्थल क्षेत्र के व्यवस्थापक कुमार हीरा प्रभाकर जब सुबह 6 बजे आए तो उन्हें सूचना दी गई। जानकारी मिलते ही उन्होंने जिलाधिकारी सहित अन्य वरीय अधिकारियों को सूचना दी। सूचना मिलने पर जिलाधिकारी विनोद सिंह गुंजियाल सहित अन्य पदाधिकारी बारी- बारी से घटनास्थल पहुंच कर निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने सुरक्षा ड्यूटी में तैनात बीएचजी जवानों को कड़ी फटकार लगाई।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/saharsa/story-thieves-chopped-off-the-sandalwood-tree-1618372.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.