बिहार: राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग खत्म, 241 विधायकों ने डाले वोट

बिहार: राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग खत्म, 241 विधायकों ने डाले वोटबिहार: राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग खत्म, 241 विधायकों ने डाले वोट

पटना [जेएनएन]। राष्ट्रपति चुनाव के लिए सोमवार को बिहार विधानसभा परिसर में सुबह दस बजे से वोटिंग की प्रक्रिया शुरू हुई जो दो बजकर तीस मिनट पर खत्म हो गई। बीजेपी के विधायक संजय सरावगी ने पहला वोट डाला तो वहीं सिवान जिले के दरौली से माले विधायक सत्यदेव राम ने आखरी वोट डाला।                         

सुबह नौ बजे से ही सभी दलों के विधायक विधानसभा पहुंचने लगे और लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते रहे। सबने बारी-बारी से अपना वोट डाला। 

साढे ग्यारह बजे तक राजग के 55  विधायकों ने अपना वोट डाला तो वहीं उसके बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी अपना वोट डाला। मोकामा के निर्दलीय विधायक अनंत सिंह  ने भी वोट डाला और शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया।  

विधानसभा में विरोधी दल के नेता प्रेम कुमार ने दावा किया है कि बिहार में रामनाथ कोविंद को उम्मीद से ज्यादा वोट मिलेगा। प्रेम कुमार ने कहा कि क्रास वोटिंग को लेकर राजद में खलबली है और इसीलिए लालू ने कल विधायकों को चेतावनी दी थी कि वोट खराब होने पर टिकट खराब कर देंगे।

अपना मतदान देकर निकले भाजपा नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि चार निर्दलीय विधायकों ने भी एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कोविंद का सपोर्ट करने के लिए उनका धन्यवाद दिया।      

पहला वोट राजद के ललित यादव और आखिरी वोट माले के सत्यदेव राम ने डाला। कुल 242 वोट डाले गए। सिर्फ एक बीजेपी के आनंद भूषण का वोट बाकी रह गया है।        

कांग्रेस विधायक विजय शंकर दूबे की लापरवाही की वजह से उन्हें वोट नहीं डालने दिया गया। दरअसल विधायक अपना पहचान पत्र घर पर भूल आए थे जिसकी वजह से उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया। अब जब वो घर से पहचान पत्र लेकर आएंगे तभी वोट डालने दिया जाएगा।

यूपीए की ओर से इस बार राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को बनाया गया है तो वहीं एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद हैं। चुनाव के मद्दे नजर बिहार विधानमंडल परिसर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई थी। चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई थी। जिलाधिकारी संजय कुमार ने कहा कि चुनाव के लिए सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई । 

पटना एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई है, किसी भी विधायक को कोई भी इलेक्ट्रानिक डिवाइस लेकर जाने की अनुमति नहीं है।

यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार के लिए राजद की ओर से विधायक ललित यादव पोलिंग एजेंट बनाए गए थे तो वहीं कांग्रेस के लिए विधायक मोहम्मद जावेद को पोलिंग एजेंट बनाया गया था। जदयू की तरफ से श्रवण कुमार को पार्टी का पोलिंग एजेंट बनाया गया था।

चुनाव आयोग के द्वारा दी गई कलम का ही इस्तेमाल हुआ

विधायकों को इस बार आयोग की ओर से दी गई कलम का ही इस्तेमाल करना था। मतदाता को इसी कलम से जिस प्रत्याशी को वोट देना था, उसके नाम के आगे एक लिखना था। मतदान पूरी तरह से गुप्त तरीके से हुआ । किसी दल को ह्विप जारी नहीं करने का निर्देश दिया गया था। 

विधानसभा पुस्तकालय में वोटिंग के लिए दो कंपार्टमेंट बनाए गए थे। शाम पांच बजे मतदान समाप्त होने के बाद मतदान पेटियों को विमान से दिल्ली भेजा जाएगा। 17 की रात को ही लोकसभा सचिवालय स्थिति स्ट्रांग रूम में इसे जमा करा दिया जाएगा।

 

ओबरा विधायक बीरेंद्र कुमार सिन्हा को छोड़कर सभी 242 विधायकों ने पटना में वोट डाला। वहीं, बिहार शरीफ जेल में बंद राजबल्लभ यादव ने भी कोर्ट से  इजाजत मिले के बाद वोट डाला। बिहार के सभी 56 सांसदों ने दिल्ली में वोट डाला। बिहार के एक विधायक के वोट की कीमत 173 है। इस तरह बिहार के विधायकों का कुल 42039 वोट है।

 

एक सांसद के वोट की कीमत 708 है। इस हिसाब से बिहार के 56 सांसदों का कुल वोट 39648 होता है। राष्ट्रपति चुनाव में संसद के दोनों सदनों के सदस्य और विधानसभाओं के सदस्य, मतदाता होते हैं। इस तरह लोकसभा के 542 और राज्यसभा के 234 सदस्य तथा राज्य विधानसभाओं के 4120 यानी कुल 4896 सदस्य सोमवार को मतदान करेंगे।

 

राजग के साथ जदयू

243 सदस्यीय विधानसभा में महागठबंधन के 178 एवं राजग के 58 सदस्य हैं। चार निर्दलीय और तीन भाकपा माले के भी सदस्य हैं। लोकसभा में बिहार के कुल 40 सदस्यों में राजग के 31 तथा महागठबंधन के सात सदस्य हैं। एक राकांपा एवं एक असंबद्ध (पप्पू यादव) सदस्य हैं।

 

राज्यसभा में महागठबंधन के 11 और राजग के पांच सदस्य हैं। राजग के साथ जदयू ने कोविंद को समर्थन का ऐलान किया था। बिहार से लोकसभा में राजद के असंबद्ध सदस्य पप्पू यादव एवं एनसीपी के सदस्य तारिक अनवर हैं।

 

विधानसभा में चार निर्दलीय एवं तीन भाकपा माले के सदस्य हैं। निर्दलीय विधायक अनंत सिंह, बेबी कुमारी, धीरेंद्र प्रताप सिंह एवं अशोक चौधरी राजग-यूपीए के मतों के फासले को प्रभावित कर सकते हैं। 

 

 

कोविंद के साथ जाने की उम्मीद 

विधायक                    सांसद

राजग 58                      36

जदयू 71                      11

निर्दलीय 02                   01

कुल 19203                  33984

दोनो मिलाकर कुल        53187

 

मीरा के साथ जाने की उम्मीद 

राजद  80                    05

कांग्रेस 27                   02

वामदल 03                  00

राकंपा  00                  01

निर्दलीय 02                 00

By
Kajal Kumari 

Source Article from http://www.jagran.com/bihar/patna-city-16382608.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.