बिहार: बेगूसराय बना मोहब्बत की मिसाल,मज़ार और मंदिर के बीच कम हुई दूरियां – News18 इंडिया

हमारे सपनों के भारत की सबसे खूबसूरत तस्वीर अगर कहीं दिखाई दे रही है तो वह है बिहार का लेनिनग्राद कहे जाने वाले जिला बेगूसराय में. बेगूसराय में इस वक्त दुर्गापुजा और मुहर्रम की धूम है. इसके साथ साथ ही वहां पर मंदिर और मज़ार के बीच प्रेम और श्रद्धा की अविरल बह रही धारा हमारे महान देश के लोकतांत्रिक सदभाव की मिसाल भी पेश कर रही है.

बेगूसराय के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक कर्पूरी स्थान में जहां हज़ारों हिंदु हर दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना करने आते है और उतने ही विश्वास और श्रद्धा के साथ पास स्थित मज़ार पर भी अपना सिर भी झुकाते हैं.
पर वो दिन इस इलाके के लिए और खास हो जाता है जब कर्पुरी स्थान से सटे किरोड़ीमल गजानंद माता दुर्गा के मंदिर में मुस्लिम भाई मां के दरबार की साफ सफाई करते हैं. पूजा की पूरी व्यवस्था संभालते हैं.



<!–
–>


मंदिर की व्यवस्था में अपना योगदान देने वाले मो. कैसर आलम बताते हैं कि 1921 मे स्थापित इस दुर्गा मां के मंदिर के प्रति लोगो की अपार श्रद्धा है. इस मंदिर की खास बात यह है की इस मंदिर की पूरी व्यवस्था में सभी धर्माे के लोगो का सहयोग होता है. सुबह होते ही साफ सफाई , पोछे की खास जबाबदेही मुसलमान तबके के लोग उठाते हैं.इस इलाके के लोगो की माने तो यहां जाति धर्म जैसी काई मान्यता एक दूसरे की मदद करने के आड़े नहीं आती है.
स्थानीय निवासी मुन्ना गोयनका के अनुसार,यहां के लोग यह संदेश देना चाहते है कि धर्म और मजहब के नाम पर एक दूसरे को बांटने की कोई कोशिश उन्हें हिला नहीं पाएगी. मुन्ना का मानना है कि धर्म सिर्फ इबादत के लिए है नफरत फैलाने के लिए नहीं है.

Source Article from https://hindi.news18.com/news/bihar/begusarai-begusarai-is-an-example-of-national-pride-1120353.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.