बाढ़ पीड़ितों ने सीओ ऑफिस में की तोड़फोड़ – Hindustan हिंदी

प्रखंड के नकटाखुर्द पंचायत के वार्ड नं.14 के बाढ़ प्रभावित परिवारों के बैंक भेजे गए एडवाइस पर रोक लगाने से आक्रोशित लोगों ने सोमवार को कृषि भवन के डाटा एंट्री कार्यालय पहुंचकर तोड़फोड़ किया। इस दौरान सीओ व कर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए मारपीट किया। बीडीओ द्वारा इसकी सूचना पलासी थाना को दी गयी। सूचना पर पुलिस पदाधिकारी व पुलिस बल मौके पर पहुंचकर सीओ व कर्मियों को बचा कर थाने लाया। इस बाबत सीओ सत्येन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि नकटाखुर्द वार्ड नं.14 के वार्ड सदस्य द्वारा तैयार 127 बाढ़ पीड़ितो की सूची का एडवाइस बैंक भेजा गया था। लेकिन उक्त वार्ड के दर्जनों लोगों ने सूची में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए एक आवेदन उन्हें दिया था। जिसके आलोक में सूची की जांच के लिए पर्यवेक्षक अशोक यादव को निर्देश देते हुए जांच प्रतिवेदन आने तक एडवाइस के पोस्टिंग पर रोक लगा दी गयी थी। सीओ श्री सिंह ने बताया कि सोमवार को जब वे लोग कृषि भवन में डाटा एंट्री कार्य करवा रहे थे। इसी दौरान वार्ड सदस्या मंजोला देवी के नेतृत्व में करीब 200 लोगों ने कृषि कार्यालय घुसकर तोड़फोड़ करने लगा। मना करने पर वे लोग उनके साथ गाली-ग्लौज करते हुए अभद्र व्यवहार किया और कर्मियों के साथ मारपीट भी की। पुलिस बलों ने मौके पर पहुंचकर उनलोगों को बचा कर थाने लाया। सीओ ने बताया कि घटना की लिखित बयान पलासी थाने को दिया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर वार्ड सदस्य मनजोला देवी ने बताया कि वे लक्ष्य के अनुरूप 127 बाढ़ प्रभावित परिवारों की सूची सीओ को दी थी। जिसके आलोक में एडवाइस बनकर चेक काटा गया और बैंक भेजा गया था, किंतु सीओ ने पंसस के दबाव के कारण एडवाइस का पोस्टिंग रुकवा दिया। इसके कारण ग्रामीणों में काफी आक्रोश था।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/araria/story-flood-victims-sabotage-in-co-office-1589051.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.