नाले से मिले नर कंकाल और मानव अवशेष नहीं थे पुराने – दैनिक जागरण

नाले से मिले नर कंकाल और मानव अवशेष नहीं थे पुरानेनाले से मिले नर कंकाल और मानव अवशेष नहीं थे पुराने

जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : विशेष सीबीआइ कोर्ट के जज पवन कुमार तिवारी की अदालत में सोमवार को निठारी कांड के आरोपी सुरेंद्र कोली ने दो घंटे तक बहस की, इसके बाद अदालत ने मंगलवार की तारीख लगा दी। कोली के पूर्व अधिवक्ता र¨वद्र गड़िया भी अदालत में उपस्थित हुए लेकिन कोली ने कहा कि वह स्वयं मामले की बहस करेगा, हालांकि गड़िया पीछे से बहस में सहयोग करते रहे।

मंगलवार को निठारीकांड के एक मामले में सुरेंद्र कोली को डासना जेल से पेश किया गया। बहस के दौरान उसने अदालत को बताया कि डी-5 कोठी के बगल में ही डा. नवीन चौधरी रहते हैं, उनके खिलाफ मानव अंग तस्करी की रिपोर्ट भी दर्ज हो चुकी है। कोठी के पीछे नाले में मिले अवशेष उनके द्वारा फेंके हुए हो सकते हैं, क्योंकि नर कंकाल से मेरा कोई वास्ता नहीं है। इस पर सीबीआइ के विशेष लोक अभियोजक जेपी शर्मा ने कहा कि डा. नवीन का मामला काफी पुराना हो चुका है, इन केसों से उनका कोई मतलब नहीं है। नाले में मिले मांस के लोथड़े, शरीर के कटे अवशेष और नर कंकाल तत्कालीन जांच पड़ताल के समय के ताजा थे, इसलिए कोली अपने दायित्व से मुकर नहीं सकता है। अदालत ने कहा कि पहले सुरेंद्र कोली की बहस पूरी होने दें उसके बाद अपना पक्ष रखें। अदालत ने बहस जारी रखते हुए आज यानि मंगलवार को नियत किया है।

Source Article from http://www.jagran.com/uttar-pradesh/ghaziabad-16030479.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.