धड़ल्ले से बिक रहा शराब युवा हो रहे खराब – दैनिक जागरण

धड़ल्ले से बिक रहा शराब युवा हो रहे खराबधड़ल्ले से बिक रहा शराब युवा हो रहे खराब

अररिया। जोकीहाट थाना क्षेत्र में इन दिनों कुछ युवा शराब की तस्करी में लगे हैं। पांच सौ रूपये में बिकने वाली शराब बिहार पहुंचते ही काफी कीमती हो जाती है। शराब का कारोबार में चौगुना मुनाफा होने के कारण बेरोजगार युवाओं को यह धंधा खूब भा रहा है।

– सिलीगुडी व दालकोला के रास्ते आता है शराब सूत्रों की मानें तो सिलीगुड़ी और दालकोला से सब्जी वैन में रात के अंधेरे में शराब का खेप जोकीहाट पहुंचता है। फिर यहां से रातोरात अलग अलग ठिकानों में खपा दिया जाता है। फिर आन डिमांड होम डिलीवरी दी जाती है। बड़े बड़े लोग मुंह मांगा कीमत देकर अपनी शाम रंगीन कर लेते हैं। जहां अमीरों की शाम रंगीन होती है वहीं अवैध शराब के कारोबारियों की चांदी कटती है। इस धंधे में डायरेक्ट तस्कर नही जाते हैं। वे बड़ी चालाकी से कम उम्र के युवाओं और जरूरतमंद लोगों के जरिये शराब के दीवानों तक शराब पहुंचाते हैं। इस धंधे में लिप्त युवाओं का जहां कैरियर दाव पर लग जाता है वहीं सरकार के शराब विरोधी मुहिम कमजोर होता है। इतना ही नही कुछ दिन पूर्व फारबिसगंज पुलिस के हत्थे चढ़ा एक आरोपी जोकी बाजार का था। एक माह पूर्व अररिरा बस स्टैंड से शराब के साथ पकड़ाया आरोपी भी जोकीहाट निवासी था। उधर एक सप्ताह पूर्व ठेंगापूर गांव से शराब के अवैध कारोबार को ले जोकी पुलिस ने जेल भेजा है। उधर बाराइस्तबरार गांव में भी शराब के साथ आरोपी को पकड़ा था। जोकीहाट वासियों का कहना है कि शराब पर पाबंदी तो लग गई है। लेकिन बंगाल से निकटता के कारण इसकी आवाजाही रोकना पुलिस के लिए टेढी खीर नजर आती है।

– पांच सौ की शराब बन जाती है दो हजार की लोगों की मानें तो बंगाल से मंगाई गई पांच सौ की शराब बिहार पहुंचते ही पंद्रह सौ से दो हजार रूपए तक की हो जाती है। चौगुना मुनाफा देख इस धंधा में जोकी बाजार व आसपास के कई गांव के युवा इस धंधे में लिप्त है। प्रखंड वासियों का कहना है रोजा का पवित्र त्योहार रमजान आ रहा है। शराब पर नियंत्रण जरूरी है। लोगों ने एसपी सुधीर कुमार पोरिका से शराब की अवैध बिक्री रोकने की मांग की है।

Source Article from http://www.jagran.com/bihar/araria-spread-wine-aroundin-araria-16021717.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.