छात्राओं के भविष्य से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

पटना सिटी। पांच हजार छात्राओं वाले नारायणी कन्या उच्चतर माध्यमिक व मध्य विद्यालय को पटना घाट स्थित माल गोदाम की जगह चौकशिकारपुर स्थित राजकीय उच्च विद्यालय में स्थानांतरित किए जाने के प्रस्ताव की रायशुमारी को लेकर बुधवार को एसडीओ कार्यालय में हुई। अध्यक्षता कर रहे एसडीओ के के प्रसाद के समक्ष लोगों ने पुरजोर विरोध किया।

उपस्थित लोगों ने 5000 छात्राओं की सुरक्षा व भविष्य से खिलवाड़ किए जाने तथा ऐतिहासिक स्थलों के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए विरोध जताया। लोगों ने कहा कि अनुमंडल के बीचों बीच सुरक्षित स्थान पर स्थित लड़कियों के विद्यालय को चार विद्यालयों वाले कैंपस में ले जाना अनुचित होगा।

सिटी स्कूल के मैदान में विद्यालय बनने से खेलकूद समाप्त हो जाएगा वहीं छात्राओं के लिए खतरा उत्पन्न हो जाएगा। लोगों ने चरणबद्ध आंदोलन चलाने की बात कही। नारायणी विद्यालय में ही सासंद, विधायक, जिलाधिकारी के साथ बैठक करने की मांग की।

अधिवक्ता देवानंद तिवारी ने कहा कि प्रशासन के प्रस्ताव के खिलाफ पटना उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर कर न्यायोचित कार्रवाई की गुहार लगाएंगे। नगर विकास व आवास मंत्री सम्राट चौधरी ने भी स्पष्ट कहा कि कचौड़ी गली स्थित नारायणी कन्या विद्यालय का हटना जरूरी नहीं है। बैठक में हरिमंदिर गली से अतिक्रमण हटाने की भी मांग की गई।

पार्षद शिव मेहता, अनंत अरोड़ा, राकेश कपूर, परवेज अहमद, राजेश बल्लभ, प्रभात जायसवाल, कृष्ण कुमार रजक, पूनम मेहता, विनोद अवस्थी, राजेश साह, आलोक चोपड़ा, प्रदीप काश, पूर्व पार्षद मनोज कुमार समेत अन्य ने अपने विचार रखे। एसडीओ प्रसाद ने कहा कि विद्यालय के स्थानांतरण संबंधित रायशुमारी रिपोर्ट नागरिकों के आक्रोश के साथ जिलाधिकारी को भेजी जाएगी।

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

Source Article from http://www.jagran.com/bihar/patna-city-12048317.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.