घर से लक्ष्मी-गणेश की पुरानी मूर्तियों को लेकर तालाब में विसर्जन को गए थे बच्चे, और फिर… – Hindustan हिंदी

तालाब में डूबने से जहानाबाद जिले के काको थाना क्षेत्र के रसलपुर गांव के तीन भाई-बहन की मौत हो गई। जबकि पानी में डूब रहे एक बच्चे को खेत में काम कर रहे किसानों ने बचा लिया। मृतकों में दिव्यांग कमलेश पंडित के आठ वर्षीय बेटा ओम प्रकाश व 12 वर्षीया बेटी ज्योति कुमारी तथा कमलेश के भाई रामएकबाल पंडित का आठ वर्षीय बेटा सूरज कुमार शामिल है। यह घटना बुधवार की सुबह करीब आठ बजे हुई। पुलिस तीनों बच्चों के शवों का पोस्टमार्टम कराने के लिए सदर अस्पताल लेकर गई है। पानी में डूबने से बचाए गए कमलेश के 10 वर्षीय भगीना सुधीर कुमार को इलाज के लिए इसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह खराटी के योगेन्द्र पंडित का बेटा है।


सदर अस्पताल में मिले रामएकबाल पंडित ने बताया सूरज, ज्योति, ओम प्रकाश व सुधीर बिना किसी को बताए घर से गणेश-लक्ष्मी की पुरानी मूर्तियों को लेकर तालाब में विसर्जित करने चले गए थे। इसी दौरान वे तालाब में प्रवेश कर गए। गहरे पानी में चले जाने के कारण अपने को डूबते देख बच्चों ने शोर मचाया। उनकी आवाज को सुन आसपास के खेतों में काम कर रहे किसान तालाब की ओर दौड़े। पानी से चारों बच्चों को निकाला गया। लेकिन, इनमें तीन की मौत हो गई और सुधीर बच गया, जिसका इलाज चल रहा है।


रामएकबाल ने बताया कि कमलेश के दो ही बच्चे थे, जिनकी मौत डूबने से हो गई। कमलेश की पत्नी बंध्याकरण करा चुकी है। अब उसे औलाद होने की उम्मीद नहीं है। घटना की सूचना जैसे ही गांव में पहुंची परिजन व ग्रामीण तालाब की ओर दौड़े। तीनों बच्चों को मृत देख परिवार की महिलाएं व पुरुष दहाड़ मार रोने लगे। ग्रामीणों ने उन्हें पकड़कर किनारे किया और पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर सदर अस्पताल चली गई।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/patna/story-three-brothers-and-sisters-die-after-drowning-in-jehanabad-1603108.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.