ग्रामीण व गेटमैन की सतर्कता से जमुई में टला रेल हादसा – Hindustan हिंदी

ग्रामीण व गेटमैन की सतर्कता से कटौना हॉल्ट के पास सोमवार की सुबह एक बड़ी रेल दुर्घटना टल गई। संयोग था कि कटौना के ग्रामीण राजो मांझी अहले सुबह रेलवे लाइन के निकट शौच को गए तो देखा कि अप लाइन के आधा किलोमीटर आगे रेल लाइन में करीब 4 इंच का गैप है।


उन्होंने ग्रामीणों को इसकी सूचना दी जिसे देखने भीड़ इकट्ठी हो गयी। भीड़ को देखकर गेट संख्या 45 सी पर कार्यरत गेटमैन गुरुदेव यादव ने भी जाकर देखा और तत्काल इसकी जानकारी जमुई स्टेशन मास्टर को दी। चूंकि उस समय झाझा से 36573 ईएमयू पैसेंजर खुल चुकी थी। गेट लाक कर सेफ्टी पटाखा व लाल झंडा ले घटनास्थल से आगे लगा दिया और ट्रेन को रुकवाया। कॉशन लेते हुए आधे घंटे की मशक्कत के बाद फिश प्लेट लगाकर धीरे धीरे ट्रेन को पार कराया।


फिर पीडब्लूआई भी मौके पर पहुंचे। करीब डेढ़ घंटे का ब्लॉक लेकर इसे दुरुस्त किया। लाइन फ्रै क्चर के बाद पीडब्लूआई ने करीब डेढ़ घंटे का ब्लाक लेकर लाईन को दुरूस्त किया। ब्लाक लेने के कारण अप की ओर से आने वाली सभी ट्रेनें अपने नियत समय से विलंब से अपने गंतव्य को आई। ट्रेनों के विलंब से आने के कारण यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। छठ पूजा को लेकर गंगा स्नान करने वाली छठव्रती महिलाएं व पूजा को लेकर अपने घर आने-जाने वाले यात्रियों के कारण स्टेशन पर काफी भीड़ इकट्ठा हो गई थी।


लोगों ने कहा आज ही मुंगेर के जमालपुर में चार व्रतियों की मौत रेल की चपेट में आने से हो गई। भगवान का शुक्र है कि समय रहते फै्रक्चर का पता चल गया। नहीं तो अनहोनी हो सकती थी। गंगा स्नान को जा रही गीता देवी ने बताया कि हम अपनी दो बेटी और बहन के साथ गंगा स्नान करने जा रहे थे। जहां इस संबंध में स्टेशन प्रबंधक रंजीत कुमार सिंह ने बताया कि गेटमेन की सूचना मिलने के बाद इसकी सूचना वरीय पदाधिकारियों को देते हुए अप की ओर से आने वाली सभी ट्रेनों को रोक दिया गया। लाइन दुरूस्त होने के बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू किया गया।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/jamui/story-gateman-s-alertness-escaped-with-rail-accident-1609185.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.