गोपाल ¨सह के कविता में होता है राष्ट्र प्रेम – दैनिक जागरण

गोपाल ¨सह के कविता में होता है राष्ट्र प्रेमगोपाल ¨सह के कविता में होता है राष्ट्र प्रेम

मधेपुरा। प्रो. लालन प्रसाद अद्री के आवास पर डॉ. गोपाल ¨सह नेपाली की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. केएन ठाकुर ने किया। मौके पर डॉ. केएन ठाकुर ने कहा कि गोपाल ¨सह राष्ट्रवादी कवि हैं। उनकी रचनाओं में राष्ट्र प्रेम का स्वर प्राप्त होता है। वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रो. इंद्र नारायण यादव ने कहा कि नेपालीजी उन्मुक्तता और मनुष्यता के कवि हैं। वह मूल्य और राष्ट्रीयता को प्राथमिकता देता है। डॉ. आलोक ने कहा कि नेपाली जी राष्ट्रमुक्ति के कवि हैं। डॉ. विनय कुमार चौधरी ने कहा कि हिमालय ने पुकारा है के माध्यम से नेपाली जी राष्ट्र चेतना के रूप में प्रतिष्ठित करते हैं तथा अपने आप को वन मैन आर्मी का सम्मान प्राप्त करते हैं। मौके पर डॉ. सिद्धेश्वर कश्यप ने कहा कि नेपाली जी स्वाधीनता के कवि हैं। और अस्मिता की प्रतिष्ठा उनका रचना धर्म है। वह दलित और शोषित के मुक्ति के कवि हैं। इस कार्यक्रम का संचालन हर्षवर्धन ¨सह राठौर ने किया। इस अवसर पर पवन कुमार, सुकेश, रमन, राहुल, भावेश, मंतोष, बालकृष्ण आदि उपस्थित थे। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. लालन प्रसाद अद्री ने किया।

By
Jagran 

Source Article from http://www.jagran.com/bihar/madhepura-madhepura-news-16535397.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.