कटिहार के बनिया टोले महिषासुर मर्दिनी के रूप में दिखेंगी मां दुर्गा – Hindustan हिंदी

शहर के विभिन्न पंडालों में कहीं चंड-मुंड विनाशिनी तो कहीं महिषासुर मर्दिनी के रूप में दिखेंगी मां दुर्गा की प्रतिमाएं। विभिन्न पंडालों में मां दुर्गा की मूर्तियों को अंतिम रूप देने में कलाकार जुटे हुए हैं। जिला मुख्यालय का शहरी क्षेत्र खासकर दशहरा एवं काली पूजा के समय शक्ति की उपासना में तल्लीनमय होने के कारण दर्जनों की संख्या में भव्य एवं आकर्षक पूजा पंडाल बनाये जाने के कारण शहर पंडाल मय हो जाता है। कभी जगरनाथ पुरी तो कभी द्वारिका पुरी तो कभी मां वैष्णो देवी के मंदिर का आकृति देकर श्रद्धालुओं के लिए यह जिला आकर्षण का केन्द्र बनता रहा है। जिला प्रशासन द्वारा प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले पूजा समिति को पुरस्कृत भी किया जाता है ।40 कारीगर लगे हैं मां दुर्गा के पंडाल बनाने मेंसनद रहे कि विगत वर्षों बनिया टोला पूजा कमिटी द्वारा लाख, चूड़ी, मासिस की तिली, स्टील चम्मच आदि से भव्य पंडाल का निर्माण कराकर उसमें आदि शक्ति भगवती दुर्गा की पूजा अर्चना किया गया था। इस पंडाल में हजारों की संख्या में प्रतिदिन श्रद्धालुओं की भीड़ पूजा अर्चना के लिए उमड़ती रही है । इस वर्ष 15 लाख की लागत से रैक्सिन द्वारा भव्य पंडाल का निर्माण किया जा रहा है । इसके लिए एक माह पूर्व से ही ओडिशा के कोन्टाई से आये कारीगर के नेतृत्व में 40 कारीगर लगातार कार्य कर रहे हैं । कारीगर की माने तो भव्य पंडाल बनाने में डेढ़ माह का समय लग जायेगा । बनिया टोला पूजा समिति के अध्यक्ष साधन कुमार दास ने बताया कि पूर्जा अर्चना के बाद जो राशि बच जाती है उस राशि का उपयोग बाढ़ राहत कार्य में किया जायेगा। पूजा की तैयारी में सचिव निर्मल डालमिया, सदस्य जितेन्द्र दास, कुमार जय, विप्रोदीप, नारायण, प्रशान्त दत्ता, चिन्टू, बिट्टू, गगन, अमरदीप, गोरांगो प्रसाद, कमल दास लगातार लगे हैं।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/katihar/story-baniya-tola-of-katihar-will-be-seen-as-mahishasur-mardini-mother-durga-1473400.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.