आमरण अनशन पर बैठे ऑपरेटर – Hindustan हिंदी

जिले के अस्पतालों में तैनात सभी डाटा ऑपरेटरों ने बुधवार से सदर अस्पताल में आमरण अनशन शुरू किया। अस्पताल में निबंधन और दवा वितरण काउंटर पर बहाल सभी डाटा ऑपरेटरों को प्रभा सॉफ्टवेयर एजेंसी द्वारा हटाये जाने के बाद शुरू किया है।
सभी ऑपरेटर सदर अस्पताल के गेट पर अनशन पर बैठ गये हैं। इस दौरान ऑपरेटर हाथों पर तख्तियां लेकर जमकर नारेबाजी की। सभी न्याय दिलाने की मांग कर रहे थे। अनशन पर बैठे विक्रम कुमार सिंह, गुलाम रब्बानी आदि ने बताया कि वे लोग बीते चार साल से अस्पतालों में मरीज का निबंधन और दवा वितरण काउंटर पर काम कर रहे थे। इसका सभी डाटा भी अपलोड करते थे। पर, एजेंसी के लोग अपनी मनमानी चलाते रहे।
बताया गया कि 11 हजार मासिक का एग्रीमेंट कर उनलोगों को मात्र आठ हजार रुपये ही दी जा रही थी। तीन हजार की अवैध रूप से कटौती की जा रही थी। इस बाबत कई बार अस्पताल प्रशासन को आवेदन देकर अवगत कराया गया पर परिणाम सिफर रहा। अमित कुमार और नीरज कुमार सिंह ने बताया कि बाद में आजिज होकर वे लोग 31 जुलाई से धरना दे रहे थे। बदले में एजेंसी ने उनलोंगों का योगदान रद्द कर दिया।
ऐसे में वे लोग बुधवार से आमरण अनशन शुरू किये हैं। शीघ्र न्याय नहीं मिलने पर अस्पताल परिसर में ऑपरेटर आत्मदाह करेंगे। आमरण अनशन में 50 से अधिक डाटा ऑपरेटर शामिल हुए। इधर, इस बाबत सिविल सर्जन डॉ. अमरनाथ झा ने बताया कि अनशन की जानकारी के बाद अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. अजय नारायण प्रसाद को अनशन कर रहे लोगों की स्वास्थ्य जांच करते रहने का निर्देश दिया गया है।

Source Article from http://www.livehindustan.com/bihar/madhubani/story-operator-sitting-on-hunger-strike-1459081.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.